होंडा बाइक इंश्योरेंस

केवल 714 रूपए से शुरू होने वाली होंडा बाइक इंश्योरेंस पॉलिसी पाएं
solo Bike riding Image
search

I agree to the  Terms & Conditions

It's a brand new bike

Continue with

-

(Incl 18% GST)

ऑनलाइन होंडा बाइक इंश्योरेंस खरीदें या रिन्यू करें

भारत में होंडा टू व्हीलर के इतिहास, इसकी लोकप्रियता के कारण, होंडा बाइक इंश्योरेंस पॉलिसी और अपने लिए सबसे उपयुक्त पॉलिसी के बारे में आप कितना जानते हैं?

चलिए कुछ तथ्यों से शुरुआत करते हैं:

होंडा को भारत में टू व्हीलर के दूसरे नाम  के तौर पर जाना जाता है। सोसाइटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैनुफैक्चरर (SIAM) में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक, हालिया आर्थिक गिरावट के बावजूद होंडा कंपनी लगातार छह महीनों, यानी अप्रैल से सितंबर 2019 तक, भारत में टू व्हीलर की सबसे बड़ी विक्रेता रही है। (1)

बीएचपी-इंडिया (BHP-India) ने अगस्त 2019 के भारतीय टू व्हीलर निर्माताओं के मार्केट शेयर का आकलन किया था। इस आकलन के मुताबिक, मौजूदा समय में होंडा का मार्केट शेयर 29% है, जिस कारण ये कंपनी भारत में दूसरी सबसे बड़ी कंपनी है। (2)

यह संख्या भारतीय उपभोक्ताओं के बीच होंडा टू व्हीलर की लोकप्रियता को साबित करने के लिए पर्याप्त से भी कहीं ज्यादा है।

हालांकि, बेहतरीन फीचर के बावजूद होंडा टू व्हीलर को भारतीय सड़कों पर चलाने के दौरान आ सकने वाले तमाम खतरों से बचाया नहीं जा सकता।

इसलिए, आपके वाहन को नुकसान पहुंचने पर खुद को आर्थिक संकट से बचाने के लिए होंडा टू व्हीलर के लिए इंश्योरेंस पॉलिसी लेना बहुत जरूरी है। दुर्घटना होने पर दूसरे किसी भी वाहन की तरह ही आपके होंडा टू व्हीलर को भी भारी नुकसान पहुंच सकता है। इससे आप पर खर्च का बोझ पड़ सकता है। एक इंश्योरेंस पॉलिसी ऐसी स्थितियों में आपको सुरक्षा दे सकती है।

इसके अलावा भी, मोटर व्हीकल एक्ट, 1988 के तहत थर्ड-पार्टी लायबिलिटी टू व्हीलर इंश्योरेंस पॉलिसी करवाना अनिवार्य है। अगर आप कोई भी होंडा वाहन बिना इंश्योरेंस के चलाते हैं तो आप पर 2000 रुपए का जुर्माना लग सकता है और बार-बार ऐसा करने पर 4000 रुपए का जुर्माना लग सकता है।

Read More

होंडा बाइक इंश्योरेंस में क्या-क्या कवर होता है?

दुर्घटना

दुर्घटना

दुर्घटना के कारण होने वाले सामान्य नुकसान

चोरी

चोरी

बाइक या स्कूटर का चोरी होना

आग

आग

आग लगने के कारण होने वाले सामान्य नुकसान

प्रकृतिक आपदाएं

प्रकृतिक आपदाएं

प्राकृतिक आपदाओं के कारण होने वाले नुकसान

व्यक्तिगत दुर्घटना

व्यक्तिगत दुर्घटना

अगर अपनी बाइक से आपको चोट लगती है

थर्ड-पार्टी के नुकसान

थर्ड-पार्टी के नुकसान

जब आपकी बाइक के कारण किसी व्यक्ति या संपत्ति को नुकसान पहुंचता है।

क्या कवर नहीं किया जाता?

आपके लिए यह जानना भी बेहद जरूरी है कि आपकी टू व्हीलर इंश्योरेंस पॉलिसी में क्या कवर नहीं किया जाता है, ताकि क्लेम के दौरान आपको कोई परेशानी न हो। यहां कुछ परिस्थितियां बताई गई हैं जिन्हें कवर नहीं किया जाता:

थर्ड-पार्टी पॉलिसी होल्डर के खुद के वाहन को होने वाले नुकसान (ओन डैमेज)

थर्ड-पार्टी पॉलिसी या लायबिलिटी ओनली बाइक पॉलिसी होने पर आपके खुद के वाहन हुए नुकसान (ओन डैमेज) कवर नहीं किए जाएंगे।

बिना लाइसेंस या शराब पीकर गाड़ी चलाना

अगर आप शराब पीकर या बिना वैध लाइसेंस के गाड़ी चलाते पाए जाते हैं, तो आपको कवर नहीं मिलेगा।

वैध ड्राइविंग लाइसेंस होल्डर के बिना गाड़ी चलाना

अगर आपके पास लर्नर लाइसेंस है और आप पीछे की सीट पर वैध ड्राइविंग लाइसेंस होल्डर को बैठाए बिना गाड़ी चलाते हैं तो आपको ऐसी किसी भी परिस्थिति में कवर नहीं किया जाएगा।

सीधे परिणाम के तौर पर नहीं होने वाला नुकसान

कोई भी नुकसान जो सीधे तौर पर दुर्घटना के कारण न हुआ हो। उदाहरण के लिए, अगर किसी दुर्घटना के बाद अगर टूट चुके टू व्हीलर का सही से इस्तेमाल न किया जाए और इस वजह से उसका इंजन खराब हो जाए तो ऐसे नुकसान कवर नहीं किए जाएंगे।

जान-बूझकर की गई लापरवाही

कोई भी जान-बूझकर की गई लापरवाही जैसे, बाढ़ में टू व्हीलर चलाने के कारण वाहन को होने वाले नुकसान को कवर नहीं किया जाएगा। निर्माता के ड्राइविंग मैनुअल में ऐसा न करने की सलाह दी जाती है।

ऐड-ऑन न खरीदने पर

कुछ परिस्थितियों को ऐड-ऑन में कवर किया जाता है। अगर आपने उन परिस्थितियों से संबंधित ऐड-ऑन नहीं खरीदे हैं तो आपको उसका कवर नहीं मिलेगा।

आपको डिजिट का होंडा बाइक इंश्योरेंस क्यों खरीदना चाहिए?

कैशलेस मरम्मत

कैशलेस मरम्मत

देश भर में हमारे 4400+ नेटवर्क गैरेज हैं जिनमें से किसी में भी आप अपने टू व्हीलर की मरम्मत करवा सकते हैं।

स्मार्टफोन से हो सकने वाले सेल्फ-इंस्पेक्शन

स्मार्टफोन से हो सकने वाले सेल्फ-इंस्पेक्शन

स्मार्टफोन से हो सकने वाले सेल्फ-इंस्पेकशन के जरिए आप पेपर रहित और जल्द क्लेम कर सकते हैं।

बेहद तेज क्लेम

बेहद तेज क्लेम

टू व्हीलर के क्लेम का निपटारा औसतन 11 दिनों में हो जाता है।

अपने वाहन की आईडीवी (IDV) कस्टमाइज करें

अपने वाहन की आईडीवी (IDV) कस्टमाइज करें

हमारी पॉलिसी में आप अपने टू व्हीलर की आईडीवी (IDV) कस्टमाइज कर सकते हैं।

24*7 सहयोग

24*7 सहयोग

24*7 कॉल सुविधा उपलब्ध, यहां तक कि राष्ट्रीय छुट्टियों के दिनों में भी।

आपकी जरूरतों को पूरा करने वाला होंडा बाइक इंश्योरेंस प्लान

थर्ड-पार्टी

थर्ड-पार्टी बाइक इंश्योरेंस सबसे ज्यादा करवाया जाने वाला इंश्योरेंस है। इसमें केवल किसी थर्ड-पार्टी की संपत्ति, वाहन या व्यक्ति के नुकसान को कवर किया जाता है।

कॉम्प्रिहेंसिव

कॉम्प्रिहेंसिव बाइक इंश्योरेंस सबसे अहम बाइक इंश्योरेंस है। इसमें थर्ड-पार्टी के साथ ही आपकी बाइक को होने वाले नुकसान भी कवर किए जाते हैं।

थर्ड-पार्टी

कॉम्प्रिहेंसिव

×
×
×
×
×
×

क्लेम कैसे दर्ज करें?

आपने टू व्हीलर के लिए इंश्योरेंस प्लान खरीदने या रिन्यू करने के बाद आप निश्चिंत हो सकते हैं, क्योंकि, हमारे यहां तीन चरणों में होने वाली क्लेम प्रक्रिया पूरी तरह से डिजिटल है।

चरण 1

हमें 1800-258-5956 पर कॉल करें। आपको कोई फॉर्म नहीं भरना पड़ेगा।

चरण 2

आपने पंजीकृत मोबाइल नंबर पर सेल्फ-इंस्पेकशन का लिंक पाएं। बताए गए तरीके से अपने मोबाइल फोन से वाहन को हुए नुकसान की तस्वीरें लें।

चरण 3

मरम्मत के लिए हमारे नेटवर्क गैरेज में कैशलेस मरम्मत या प्रतिपूर्ति (रिइंबर्समेंट) में से अपने पसंद का कोई तरीका चुनें।

Report Card

डिजिट के इंश्योरेंस क्लेम कितनी जल्दी निपटाए जाते हैं?

इंश्योरेंस कंपनी चुनते समय आपके मन में ये सवाल सबसे पहले आना चाहिए। अच्छा है आप ऐसा कर रहे हैं।

डिजिट का क्लेम रिपोर्ट कार्ड पढ़ें

होंडा मोटरसाइकिल एंड स्कूटर इंडिया प्राइवेट लिमिटेड (HMSI) का इतिहास

आपको होंडा टू व्हीलरों की इंश्योरेंस पॉलिसी क्यों खरीदनी चाहिए?

होंडा टू व्हीलर इंश्योरेंस पॉलिसी में डिजिट क्या लाभ देता है?

क्या आपका होंडा टू व्हीलर इंश्योरेंस का प्रीमियम कम किया जा सकता है? जानें कैसे

भारत में ऑनलाइन होंडा बाइक इंश्योरेंस पॉलिसी से संबंधित अक्सर पूछे जाने वाले कुछ सवाल